इसीलिए दवाई के हर पैकेट में 10 टेबलेट होती है | रावण जोक्स

रावण जोक्स

Es “रावण जोक्स” aur “रावण चुटकुले” me aapko hansi hansi me, dawaiyon ke packet me 10 tablets hone ka funny kaaran pata chalega.

रावण के 10 सिर और 20 आँखें…. लेकिन नजर सिर्फ एक स्त्री सीता पर थी!

लेकिन, आजकल के लड़कों के सिर्फ 1 सिर और 2 आँखें हैं… और नजर हर स्त्री पर है…

अब बताओ, कि असली रावण कौन है????


संता:- क्या तुम्हें पता है, दवाई के हर पैकेट में 10 टेबलेट ही क्यों होती है?

बंता:- हाँ, पता है, दवाई के हर पैकेट में ये 10 टेबलेट वाली प्रथा….. तब चालू की गई थी जब लंकाधिपति रावण को पहली बार सरदर्द हुआ था…


संता:- क्या तुम्हें पता है कि लंकाधिपति रावण नाईट क्लब पार्टी में एंट्री करने से पहले ही बेहोश क्यों हो गया?

बंता:- नहीं?

संता:- वो इसलिए कि टिकट काउंटर पे लिखा हुआ था कि….. पर हेड एंट्री फीस 5000/ रूपये….


रावण पे मुकदमा चल रहा था और उसका केस संता लड़ रहा था ।

संता:- गीता पे हाथ रखकर कसम खाइए कि जो बोलूँगा सच बोलूँगा…

रावण:- ना जी ना! एक बार सीता पे हाथ रखा था तो इतनी मुसीबत आई थी…. अब गीता पे हाथ रखने को बोल रहे हो? ना बाबा ना…


दशहरे में जलते हुए रावण ने भीड़ से पूछा:- सालों! तुम सभी की बीवी तो नहीं उठाई थी….. जो तुम सभी मुझे जलाने हर साल इकट्ठे हो जाते हो?

संता:- तूने हमारी बीवी नहीं उठाई थी….. इसीलिए तो तुम्हें हर साल जलाने इकठ्ठा होते हैं…


रावण चुटकुले  के अलावा पढ़ें-

 

संता:- देखो, मैंने नया मोबाइल ख़रीदा है!

बंता:- अरे वाह! कौन सी कंपनी का है?

संता:- लावारिस

बंता:- अरे जाहिल आदमी! लावारिस नहीं LAVA IRIS होता है…


संता अपने नौकर से:– जरा बाहर देखना तो सूरज अभी निकला कि नहीं ?

नौकर:– साहेब, बाहर तो अँधेरा है!

संता:– अरे कामचोर कहीं का! अँधेरा है तो टॉर्च जलाकर देख ले


प्रीतो:- मेरा मानना है की शादी एक लाटरी है!

संता:- मैं नहीं मानता!

प्रीतो:- क्यों?

संता:- क्योंकि लाटरी में दुबारा किस्मत आजमाने का मौका मिलता है…. जबकि शादी में सिर्फ एक ही बार!


संता (Santa) का सर फट गया था और उससे खून बह रहा था…

डॉक्टर:- ये सब कैसे हुआ?

संता:- थोड़ी देर पहले मैं ईंट से पत्थर तोड़ रहा था… तभी बंता वहां आया और कहा कि…… “कभी तो अपनी खोपड़ी इस्तेमाल कर लिया करो”

और मैंने अपनी खोपड़ी पत्थर पे दे मारी…


और भी रावण जोक्स पढ़ें –

वासुदेव का आठवां पुत्र

स्कूल में टीचर बच्चों को महाभारत के बारे में बता रहे होते हैं!

टीचर:- “जब कंस ने आकाशवाणी सुनी कि, उसकी प्रिय बहन देवकी का आठवां पुत्र उसे मार डालेगा…..


रामचंद्र के पुल बनाने का निर्णय गलत था

एक दिन क्लास में पंडित जी बच्चों से बोले :- बच्चों, एक बार भगवान श्रीरामचंद्र जी ने समुन्द्र पर पुल बनाने का निर्णय लिया ।

तभी बीच में अपना पप्पू  कुछ कहने के लिए हाथ खड़ा करता है….

Leave a Reply

Your email address will not be published.