गौ माता

जानें, हिन्दू गाय को अपनी माता यानि कि “गौ माता” क्यों मानते हैं? गाय की पवित्रता का वैज्ञानिक कारण क्या है? हिन्दू गाय को “गौ माता” क्यों कहते हैं? हिन्दू संस्कृति के अनुसार गाय में 33 कोटि देवताओं का वास होता है। हिन्दुओं के लिए गाय सबसे पवित्र जीव है।Continue Reading

क्यों की जाती है पीपल की पूजा

हिन्दू संस्कृति में पीपल के पेड़ में पितरों का वास माना गया है। पीपल के पेड़ में सभी तीर्थों का निवास होता है। यही कारण है कि मुंडन आदि संस्कार पीपल के पेड़ के नीचे करने का रिवाज है।
हमारे ऋषि-मुनियों ने सिर्फ इसके धार्मिक महत्व की वजह से ही इसे पूजनीय नहीं बतलाया है, बल्कि पीपल की पूजा करने के पीछे बहुत बड़े विज्ञान के रहस्य छुपे हुए हैं, जिसे हम सभी को जरुर जानने चाहिए…..Continue Reading

उपवास रखने के फायदे

हिन्दू रीती-रिवाजों में व्रत या उपवास रखने को ईश्वर या भगवान के प्रति श्रद्धा और भक्त‍ि समझा जाता है। ऐसा माना जाता है कि व्रत या उपवास रखने से ईश्वर की कृपादृष्टि बनी रहती है। व्रत और उपवास हिंदू धर्म के प्राण हैं। व्रत या उपवास रखने के बहुत सारे वैज्ञानिक फायदे हैं…..Continue Reading

सूर्य को अर्घ्य क्यों देते हैं

ताम्बे के लोटे या मिट्टी के पात्र में  जल लेकर सुबह के समय सूर्य की ओर देखते हुए अपनी दोनों आँखों के सामने से पानी की धार को धीरे-धीरे  गिराने की प्रक्रिया को सूर्य को अर्घ्य देना या सूर्य को जल चढ़ाना कहते हैं।
सूर्य को अर्घ्य हमेशा सुबह के 8 बजे से पहले ही देना चाहिए। सूर्य को अर्घ्य देने से पहले नीति क्रिया से निवृत हो स्नान करने के पश्चात् ही सूर्य जो अर्घ्य देना चाहिए…Continue Reading

सूर्य नमस्कार के फायदे

सूर्य नमस्कार का शाब्दिक अर्थ सूर्य को नमस्कार करना है। यह एक योग आसन है, जो 12 योग आसनों का एक संयुक्त रूप है। यह एक सर्वोत्तम कार्डियो वैस्कुलर व्यायाम   है जिसको नियमित रूप से करने से शरीर बलिष्ठ और मजबूत बनता है।

सूर्य नमस्कार के प्रत्येक चरण में 12 आसनों के दो क्रम होते हैं। सूर्य नमस्कार अपने आप में एक पूर्ण यौगिक व्यायाम  है। यह भारतीय संस्कृति का सर्वोत्तम योग पद्धति है….Continue Reading