गायत्री मंत्र का महत्व

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार मन्त्रों में असीम शक्ति होती है। सभी मन्त्रों का आधार “अक्षर विज्ञान” होता है। हिन्दू परम्पराओं में प्रत्येक देवी-देवता को खुश करने के लिए अलग-अलग मन्त्रों की रचना की गई है। हर मन्त्र के अपने गुण और अपनी अलग विशेषता होती है। लेकिन उन सभी मन्त्रों में “गायत्री मंत्र तंत्र”  को उत्तम और सर्वश्रेष्ठ माना गया है और….Continue Reading

ताली बजाने के फायदे

आपको यह जानकर आश्चर्य हो सकता है कि ताली बजाने से सिर्फ खुशी ही जाहिर नहीं होती है, बल्कि यह हमारी सेहत के लिए भी बहुत लाभदायक होती है।
प्राचीन समय में हमारे ऋषि-मुनियों को ताली बजाने के स्वास्थ्य लाभ के बारे में पहले से ही पता था। इसीलिए उन लोगों ने धार्मिक स्तुति या आरती के समय ताली बजाने की परम्परा की शुरुआत की थी….Continue Reading

जनेऊ

सनातन संस्कृति में यज्ञोपवीत होना यानि कि “जनेऊ धारण” करने को बहुत ही पवित्र माना गया है। इसे धारण करने के संस्कार को “उपनयन संस्कार” कहा जाता है। हिन्दू धर्म के 16 संस्कारों में एक संस्कार यह भी है। उपनयन का अर्थ होता है, पास या नजदीक ले जाना। किसके पास ले जाना? ईश्वर और ज्ञान के पास ले जाने की बात कही गई है…Continue Reading

गौ माता

जानें, हिन्दू गाय को अपनी माता यानि कि “गौ माता” क्यों मानते हैं? गाय की पवित्रता का वैज्ञानिक कारण क्या है? हिन्दू गाय को “गौ माता” क्यों कहते हैं? हिन्दू संस्कृति के अनुसार गाय में 33 कोटि देवताओं का वास होता है। हिन्दुओं के लिए गाय सबसे पवित्र जीव है।Continue Reading

क्यों की जाती है पीपल की पूजा

हिन्दू संस्कृति में पीपल के पेड़ में पितरों का वास माना गया है। पीपल के पेड़ में सभी तीर्थों का निवास होता है। यही कारण है कि मुंडन आदि संस्कार पीपल के पेड़ के नीचे करने का रिवाज है।
हमारे ऋषि-मुनियों ने सिर्फ इसके धार्मिक महत्व की वजह से ही इसे पूजनीय नहीं बतलाया है, बल्कि पीपल की पूजा करने के पीछे बहुत बड़े विज्ञान के रहस्य छुपे हुए हैं, जिसे हम सभी को जरुर जानने चाहिए…..Continue Reading